Hindi Short Stories with Moral and Pictures | Best Stories

Top 3 Hindi Short Stories with Moral and Pictures | Kahaniya

तो दोस्तों कैसे है आप लोग Sabse Bhadiya Kahaniya | Short Hindi Stories मैं आप सबका स्वागत हैं उम्मीद है। 

अपना ख्याल रख रहे होंगे आज मै आपके के लिए फिर से एक बहुत अच्छी कहानी लायी  हु। 

अगर आपको मुश्किलों से डर लगता है और आप उससे दूर जाते परन्तु आप मुश्किलों से और नाते जोड़ रहे है। 

यही बात आज की आप तीन कहानियाँ मैं पढ़ेंगे की कैसे ये दो आदते आपके अंदर अच्छे परिवर्तन आ सकते हैं। 

और अगर आपका motivation or moral मिलने वाली Hindi Stories पढ़ना का मन कर रहा है  तो आप बिल्कुल सही जगा आये है।

यह कहानी बनाने मैं  मुझे थोड़ा वक़्त तो लग था लेकिन जैसा की मेरी आदत है मैं  पूरी खोशिश करती हु की एक दिन मैं काम से काम एक कहानी तो लिखू जी है मुश्किल है पर असंभव नहीं।

तो बिना समय ख़राब किये चलिए मैं आपको इन तीन कहानियों के बारे मैं बताती हु।

1. सपने (Dream)

hindi-moral-stories-short
Sapne 

अपने सपने संजोयें मेरा एक दोस्त है जिसका नाम मोंटी रोबर्ट्स है जो सैन फ्रांसिको में एक घोड़ों का फार्म चलाता है ।

उसने मुझे अपना घोड़ा खतरे में नवयुवक कार्यक्रम के लिए पैसे इकट्ठे करने के लिए दिया | जब पिछली बार मैं वहाँ था तब उसने लोगों से मुझे यह कहकर मिलवाया था कि,

” मैं आपको यह बात बताना चाहता हूँ कि मैं क्यों जैक को अपना घोड़ा इस्तेमाल करने देता हूँ । 


बात वाहा  से शुरू होती है जहाँ एक लड़का जो एक जाने माने घोड़ों के ट्रेनर का बेटा था; वो ट्रेनर जो फार्म से फार्म, रेस क्षेत्र से रेस क्षेत्र, अस्तबल से अस्तबल, घोड़ों को सिखाने के लिए घूमता रहता था । 

नतीजतन लड़के के स्कूल में लगातार रूकावट आती रहती था । 

जब वह बड़ा हुआ तो उसे बड़ा होकर वह क्या बनना चाहता है विषय पर एक पेपर लिखने को कहा गया | उस रात उसने सात पन्नों का पेपर लिखा कि कैसे वह एक खेत के अस्तबल का मालिक बनना चाहता है । 

उसने तफ्तारा सपने के बारे में सब बताया और एक 200 एकड़ फार्म से अपने सपने के बारे में संदर्ब का नक्षा भी बनाया जिसमें उसने सारी इमारतों की जगह , फार्म , दौड – क्षेत्र सबकी जगह बताई । 

फिर उसने 4000 वर्ग फुट के पर का नक्षा भी अच्छे से चित्र बना कर समझाया जो उस सपने का 200 एकड़ फार्म का हिस्सा होगा ।

” उसने पूरे मन से पूरा प्रोजेक्ट किया और अगले दिन अपनी टीचर को दिया । दो दिन बाद उसे उसका पेपर वापस मिला । पहले पन्ने पर लाल स्याही में एक बड़ा सा फेल लिखा हुआ था । 

और साथ में एक नोट था जिसमे लिखा था

 ‘ मुझे क्लास के बाद मिलो । ‘ 

” आँखों मैं सपने की चमक से भरा वो लड़का क्लास के बाद अपनी टीचर से जा कर मिला और उनसे सवाल किया की,

‘ मुझे फेल क्यों किया गया ? टीचर ने कहा ,

 ‘ तुम्हारे जैसे छोटे बच्चे के लिए ये एक बहुत बड़ा सपना है । तुम्हारे पास कोई पैसे नहीं हैं । तुम एक गरीब परिवार से हो तुम्हारे पास कुछ नहीं है । घोड़ों के अस्तबल के लिए बहुत पैसो की ज़रूरत होती है । तुम्हे ज़मीन खरीदनी होगी । तुम्हे शुरुआती । 

घोड़ों को खरीदने के लिए पैसे चाहिए होंगे और बाद में भारी स्टड फीस देनी होगी | तुम ये सब किसी तरह भी नहीं कर सकते ।  उन्होंने जोड़ा ,

” अगर तम एक बार फिर ये पेपर लिखा और कोई हासिल होने वाले सपने के बारे में बात करोगे ता तुम्हे बेहतर ग्रेड देने के बारे में सोचूंगी । ‘

लड़का घर गया और बहुत समय तक इस बारे में विचार करता रहा । उसने अपने पिता से पूछा कि उसे क्या करना चाहिए । उसके पिता ने कहा , 

” देखो , बेटा , तुम्हे इसके बारे में खुद ही सोचना चाहिए और मैं यह भी नहीं चाहता की तुम इस काम मैं किसी से  मदद  मांगो । लेकिन मुझे लगता है ये तुम्हारे लिए एक बेहद महत्वपूर्ण निर्णय होगा | ‘

” आखिरकार , एक हफ्ते तक सोचने के बाद , लड़के ने वही पेपर वापस जमा किया बिना कोई बदलाव किये उसने कहा , ‘ आप अपनी दी हुई ग्रेड रख सकती हैं , मैं अपना सपना  रखूँगा  मोंटी ने उपस्थित लोगों से कहा,

‘ मैं आपको इसकी कहानी इसलिए सुना रहा है क्योंकि आप मेरे 4000 वर्ग फीट घर में बैठे हुए हैं जो एक 200 एकड़ घोड़ों के फार्म का हिस्सा है । वो स्कूल का पेपर मैंने आज भी आग जलाने की जगह के ऊपर फ्रेम कर के लगा रखा है । “ उसने आगे कहा ,

” सबसे अच्छी बात है कि मेरी वह टीचर दो गर्मियों पहले 30 बच्चों को एक हफ्ते के लिए मेरे फार्म पर कैम्पिंग करने ले कर आई थीं | जब वो जा रही थीं , तो उन्होंने कहा ,

” देखो , मोंटी , आज मैं तुम्हे बता सकती हूँ । जब मैं तुम्हारी टीचर थी , तब मैं सपने छीनने वाली हुआ करती थी | उन सालों में मैंने बहत से बच्चों से उनके सपने  छीन लिए आज खुशी होती है देखकर कि तुमने अपने सपने नहीं छोडे । “

सीख (Moral):

” किसी को अपने सपने छीनने ना दें । अपने दिल की सुनें , चाहे जो हो । “

 

Read More:

2. अपनी चिंताओं को जाने दें ! (Let your Tensions GO!)

hindi-moral-stories-short
 (Tension)

 एक मनोवैज्ञानिक कमरे में घूम कर वहाँ बैठे लोगों को अपनी चिंताओं पर काबू करने के बारे में सिखा रही थी । जब उसने पानी का एक गिलास उठाया तो लोगों ने सोचा वह पूछेगी वही सवाल की

” गिलास आधा भरा हआ है या खाली है । मगर चेहरे पर एक मुस्कान के साथ , उसने पूछा :

“ ये पानी का गिलास कितना भारी है ? ” जवाब आए 8 ग्राम से 20 ग्राम के बीच में | उसने जवाब दिया ” इसका असली वज़न मायने नहीं रखता | 

फ़र्क इससे पड़ता है कि मैं इसे कितनी देर पकडे रहती हूँ । अगर मुझे इसे एक मिनट पकड़ना है तो कोई मुश्किल नहीं है । 

अगर मुझे इसे एक घंटे पकड़ कर रखना पड़े , तो मेरा हाथ दुखने लगेगा । अगर मैं इसे एक दिन पकड़ कर रखू , मेरा हाथ सुन्न पड़ जायेगा और अपंग हो जायेगा । 


हर हालत में गिलास के वज़न में फर्क नहीं आया , मगर जितनी ज्यादा देर मैंने इसे पकड़ कर रखा , उतना ये भारी होता गया | “

उसने आगे कहा , ” ज़िन्दगी में आने वाली चिंताएं और दुःख भी इस पानी के गिलास की तरह हैं । इनके बारे में थोड़ी देर सोचिये और कुछ नहीं होगा | इनके बारे में कुछ ज्यादा सोचेंगे तो ये दर्द पहंचाने लगेंगे । 

और अगर आप इनके बारे में पूरे दिन सोचेंगे।  तो ये आपको पागल बना देंगे – कुछ करने के काबिल नहीं रहेंगे । ‘ जरूरी है यह याद रखना कि आपको अपनी चिंताओं को जाने देना है । 

सीख (Moral):


शाम को जितना जल्दी हो सके , अपनी सभी चिंताओं को नीचे रख दें । उन्हें शाम से रात में ना ले जाएँ | गिलास को नीचे रखना याद रखिये

Read More:

3. असली इम्तेहान (Real Test)

hindi-moral-stories-short
Asli Test

 सी. आई. ए. में एक गुप्तघातक की जगह थी | 

सभी परिक्षण निरिक्षण , इंटरव्यू और इम्तेहान के बाद तीन लोगों को आखरी चुनाव के लिए चुना गया | दो आदमी और एक औरत |

आखरी इम्तेहान के लिए, सी. आई. ए. एजेंट्स ने एक आदमी को लिया और उसे एक बड़े दरवाजे के पास ले जाकर एक बन्दूक थमा दी ।

”हमें जानना है कि तुम हर हाल में हमारे निर्देश मानोगे, चाहे जो परिस्तिथि हो । 

अन्दर कमरे में एक कुर्सी पार तम्हारी बीवी बैठी होगी, उसे मार डाला ! ! उस आदमी ने कहा, ‘ आप मज़ाक कर रहे हैं । मैं अपनी बीवी को कभी नहीं मार सकता ।

” एजेंट ने कहा, ” फिर तुम हमारे काम के लिए सही आदमी नहीं हो । दूसरे आदमी को भी यही निर्देश दिए गए । वह बन्दूक लेकर अन्दर गया ।

पांच मिनट तक सब शान्ति थी | फिर वह आदमी बाहर आ और आँखों में आंसू लिए बोला , ” मैंने कोशिश की मगर मैं अपनी बीवी को नहीं मार सकता | ” एजेंट ने कहा , “ तुममे वो नहीं है जिसकी हमे ज़रूरत है । अपनी बीवी को लेकर घर जाओ ।

आखिरकार , औरत की बारी आई गोलियों की आवाज़ आई , एक के बाद एक | उन्होंने चीखने , तोड़ – फोड़ , और दिवार पर पटके जाने की आवाजें भी सुनीं |

चंद मिनटों बाद सब शांत था | दरवाज़ा खुला और वह औरत वहाँ खड़ी थी । उसने अपने माथे से पसीना पोछते हए कहा , ” इस बन्दूक मैं  नकली गोलियां भरी हुई हैं । मुझे उसे कुर्सी से पीट – पीट कर मारना पड़ा ।

सीख (Moral):

पहले पुरी परिस्थिति को समझे तब कोई निर्णय लिया करो। 

 

 ये video सारे Morals का summary हैं हलाकि ये गाना पंजाबी हैं लेकिन फिर भी आपको बोहोत पसंद आएगा।  इसे मैंने youtube पर देखि थी।  मुझे अच्छा लगा तो मैंने सोचा क्यू ना आप लोगो के साथ भी share किया जाए। 

(Conclusion):

तो यह थी ये 3 Hindi Short Stories with Moral and Pictures कहानिया आशा करती हु आपको पसंद आयी होगी ऐसी हे मजेदार कहानियाँ पढ़ने के लिए हमारे Newsletter को Subscribe करे। 


Read More:




1 thought on “Hindi Short Stories with Moral and Pictures | Best Stories”

Leave a Comment