Gajab Emotional Stories in Hindi on Mother!

Best Emotional Stories in Hindi on Mother Love & Boy| 

तो दोस्तों कैसे है सब कुछ उम्मीद है की ठीक होगा। आज मैं आप लोगो के लिए Best Emotional Stories in Hindi on Mother ये कहानी पढ़ कर आप बोहोत ही emotional हो जायेंगे । 
अगर सच खाऊ तो यह कहानी लिखने के motivation मुझे बच्चो के T.V show से मिली है हलाकि यह story को मैंने थोड़ा सा दूसरा चित्र दिया है। 
लेकिन फिर भी यह story आप लोगो को बहुत पसंद आएगी हमेशा की तरह मुझे पूरा विश्वास है इस बात पर। 
तो चालिए बिना आपका वक़्त खरब किये मैं कहानी की outline पर आता हु यह कहानी एक लड़के की हैं जिसे CANCER हुआ हैं। 

तो चालिए देखते है की माजरा क्या है…

Emotional Stories in Hindi on Mother

1. वो छोटा लड़का (Little Boy Emotional Stories in Hindi)


https://bhadiyakahaniya.blogspot.com/2020/08/emotional-stories-hindi.html
Emotional Stories in Hindi 

 जैसे ही SURGEON operation room से बाहर निकला Jenny एकदम से खड़ी हो गई । उसने पूछा , ‘ कैसा है मेरा नन्हा बेटा ? क्या वो ठीक हो जाएगी ? मैं उससे कब मिल सकती है ?

 SURGEON  ने कहा,

” माफ़ कीजियेगा | हमने सब कोशिश की , मगर आपके बेटे को नहीं बचा सके | 
Jenny ने कहा , ” छोटे बच्चों को क्यों CANCER कैसे होता है ? क्या भगवान को फिक्र नहीं ? कहाँ थे, भगवान, जब मेरे बेटे को आपकी जरूरत थी ?

SURGEON ने कहा, ‘ क्या आप अपने बेटे के साथ कुछ वक्त अकेले गुजारना चाहेंगी ? कुछ ही देर में एक  NURSE बाहर आ जाएगी, इससे पहले की इसे UNIVERSITY ले जाया जाये ‘

Jenny ने NURSE को उसके साथ रुकने को कहा जब तक वह अपने बेटे को अलविदा ना कहे । उसने प्यार से उसके घने काले बालों में उंगलियाँ फेरी NURSE ने पूछा,
‘आप चाहे तो अपने बच्चे के पास थोड़े देर लेट सकती हैं  हिला दी | Jenny की आँखे नम होगयी और वो अपने बेटे के DEADBODY के पास लेट गयी। और कहा ,
‘ JIMMY का IDEA था कि उसके शरीर को पढने के लिए दे UNIVERSITY  दिया जाए उसने कहा इससे शायद किस की मदद हो सके ” मने पहले मना कर दिया था, मगर JIMMY ने कहा ,
‘ माँ, मैं मरने के बाद इसे इस्तेमाल नहीं करेंगा शायद इससे किसी और बच्चे को मदद मिल जाए और वो अपनी माँ के साथ एक और दिन बिता पाए ‘

हमेशा दूसरों के बारे में सोचता था | हमेशा दूसरों की मदद करना चाहता था । छः महीनों से ज्यादा समय यहा बिताने के बाद, Jenny PEOPLE HOSPITAL से आखरी बार बाहर निकली | 

उसने JIMMY के सामान वाला बैग अपनी कार में अपनी बगल वाली सीट पर रखा घर का रास्ता कठिन था और उससे भी ज्यादा कठिन था एक खाली घर में लौटना |

emotional-stories-hindi
Emotional Stories in Hindi 

 वो JIMMY का सामान और थैली में उसके बालों का गुच्छा लिए JIMMY के कमरे में आ गई । उसने उसकी कार और बाकी चीजे उसके कमरे में पहले की तरह लगा दी । 

वो उसके पलंग पर लेट गई और उसके तकिये को पकड कर रोते – रोते सो गई ।

आधी रात के करीबन शैली की आँख खुली | 

पलंग पर उसकी बिस्तर के निचे छोटा सा LETTER रखा था | उसमे लिखा था। 

मैं जानता हूँ आप मुझे बहुत मिस करेगी, मगर यह कभी मत सोचना कि मैं आपको भूल जाऊंगा , या आपको प्यार करना कम कर दूंगा, सिर्फ इसलिए कि आपके पास नहीं ( आपको  I MISS YOU कहने के लिए मैं हमेशा आपसे प्यार करुंगा, माँ। 
हर दिन और ज्यादा । किसी दिन हम एक दूसरे को दुबारा जम कर देखेंगे । 

तब तक अगर आप कोई छोटा बच्चा गोद ले लेना ताकि आप अकेले ना रहे, ऐसा ज़रूर करना माँ, वो मेरा कमरा और मेरा सामान इस्तेमाल कर सकता है। 

मगर अगर आप एक लड़की गोद लेने को सोच रही हैं, तो उसे शायद लड़को वाली चीज उसे पसंद ना आये फिर आप जानती हम कि आपको उसके लिए गुड़ियाएँ और लड़कियाँ वाला सामान लाना होगा ।

 मेरे बारे में सोच कर दुखी मत होना । 


ये बहुत अच्छी जगह है । जैसे ही यहाँ आया मुझे दादा – दादी मिल गए और मुझे आस – पास घुमाय , मगर सब कुछ देखने में भी समय लगेगा । 

फ़रिश्ते तो बहुत ही बढ़िया हैं मुझे उन गाते हुए देखना बोहोत अच्छा लगता हैं । 
और जानती हो क्या औसम अपनी सारी से बिलकुल नही दिखता हो , बजन देखा , तो देखते ही जान गया कि ये वो हैं ।
 जीसस खुद मुझे भगवान् दिखाने ले गए और तो और पता हैं क्या, माँ? मैं भगवान् की गोद में बैठा हूँ और उनसे बात कर रहा हूँ मानो मैं कोई खास हूँ । 

तभी मैंने उनसे कहा कि मैं आपको LETTER लिखना चाहता हूँ, आपको अलविदा कहना चाहता है ।

emotional-stories-hindi
Emotional Stories in Hindi 

 मगर में पहले से ही जानता था कि मुझे इसकी इजाजत नहीं और जानती हो क्या, माँ ? 


भगवान ने मुझे एक पेपर और उनका अपना पेन दिया आपको चिट्ठी लिखने के लिए मुझे लगता है । गर्बिएल नाम का फ़रिश्ता आपको ये LETTER देने आएगा । 

भगवान ने मुझे कहा कि मैं आपको इस सवाल का भी जवाब दू जो आपने पूछा था कि वो कहाँ थे जब मझे उनकी जरूरत थी ?

‘ भगवान ने कहा कि वो वहीं जहाँ मैं था उसी दुनिया मैं थे, जैसे कि वो तब भी वहाँ थे जब उनके बेटे जीसस के क्रॉस पर चढाया जा रहा था, वो तब भी वहीं थे, जैसे कि वो अपने सभी बच्चों के साथ होते है । 


और हाँ, माँ, आपके अलावा और कोई नहीं देख सकता जो मैंने आपको लिखा है ।

 बाकियों के लिए ये सिर्फ एक खाली कागज का टुकड़ा है । 


कमाल है ना? अब मुझे भगवान् को उनका पेन वापस देना है । 

उन्हें जीवन की किताब में कुछ और नाम लिखने ही आज मुझे जीसस के साथ खाने की मेज़ पर बैठने का मौका मिलेगा । 

मुझे यकीन है खाना बहुत स्वादिष्ट होगा ।

और हो, मैं तो कहना ही भूल गया । मुझे अब दर्द नहीं होता । CANCER चला गया है । मैं खुश हूँ क्योंकि मुझसे अब और दर्द बर्दाश्त नहीं हो रहा था और भगवान मुझे इतने दर्द में नहीं देख सकते थी ।

इसीलिए उन्होंने दया करके फ़रिश्ते को मुझे लाने भेजा फ़रिश्ते ने कहा कि मैं एक खास बच्चा हूँ ! है न कितने मज़े की बात ? प्यार सहित : भगवान, JESUSऔर मैं “

2. माँ ने बच्चों को निकला (BEST Emotional Stories in Hindi)

हाँ बच्चे आधे घंटे में आ रहे हैं .. एक अलविदा हे राघव माँ ने फोन किया था। 
वह किसी भी क्षण पहुंच रही होगी ओह माँ ने मुझे भी बुलाया था। मैं busy था इसलिए उसका फोन नहीं उठा सका।
पापा के मरने के बाद Rahul को नहीं लगता, माँ बुआ के साथ रहती हैं और कभी-कभी मामी (मौसी) मुझे लगता है कि वह इसे वहाँ बेहतर पसंद करती हैं। 
मुझे भी लगता है कि उसने हमारे लिए बहुत कुछ किया है। 
उसने अपना सारा जीवन हमारी देखभाल में बिताया है। 
मुझे लगता है कि हमें भी अब उसके बारे में सोचना चाहिए। 
मैंने फैसला कर लिया है। माँ आ गई है और वह अब मेरे साथ रहेगी। 
उसने जीवन भर ऐसी ही प्रतिष्ठित नौकरी की थी, और सेवानिवृत्ति के बाद, वह यहाँ और वहाँ रह रही है। उसे आराम करने की जरूरत है। 
लेकिन वह मेरे साथ ही रहेगी, ठीक है! उसने हमें इतने प्यार और देखभाल के साथ पाला है। 
नहीं! नहीं, मैंने फैसला किया है कि वह मेरे साथ ही रहेगी, ठीक है! वह इसे यहाँ मेरे साथ पसंद करेगी इसलिए वह मेरे साथ रहेगी … wait करें और देखें। 
ठीक है, चलो एक बात करते हैं कि माँ यह तय करे कि वह आपके साथ रहना चाहती है या मेरे साथ? 
ठीक है उसे तय करने दो ओके मैं अब चला जाऊंगा और रास्ते में माँ से बात करूँगा, ठीक है ठीक है, बाय बाय ध्यान रखना, ओके बाय मॉम स्टेशन पर है और शितिज़ को बुलाती है हाँ माँ कहो तुम कहाँ हो? 
आप मुझे प्राप्त करने के लिए नहीं आए हैं। न राघव ने बुलाया और न आपने। तुम आ रहे हो न? 
माँ SACH में मुझे एक दौरे पर जाना है। 
एक काम करो कि तुम एक टैक्सी ले लो और सीधे राघव के घर जाओ। मैं दौरे से वापस आने पर आपसे मिलूंगा। ललित (गुस्से में) ठीक है। 
माँ ने राघव को फोन किया … नमस्ते हाँ, Raghav तुम नहीं आए? 
माँ मैं एक बैठक के साथ फंस गया हूँ। तुम एक काम करो … तुम मुझ Rahul के घर पर मिलो और मैं तुम्हें वहीं मिलूंगा। कोई बात नहीं बेटा…। 
यह ठीक है माँ सोचती है और चुगली करती है और फिर एक दोस्त को हैलो गीता कहती है, हाँ बोल रही हूँ क्या मेरे लिए एक दो दिन तुम्हारे साथ रहना संभव है हाँ मैं झूठी उम्मीद पर जी रही थी जहाँ मेरे बेटों का संबंध है। 
ठीक है धन्यवाद। मॉम हेलो रहने के लिए अपने दोस्त के घर जाती है, क्या वह वकील संजय है? जी मैं पुष्पा शाह हूं। मैं आपके साथ कुछ महत्वपूर्ण मामलों पर चर्चा करना चाहता था। 
जी क्या आप दोपहर में मुझसे मिल सकते हैं? 
जी जी … चलिए बताते हैं शाम 4 बजे। ठीक है, मैं अपना पता आपको बता दूंगा, ठीक है! शुक्रिया सर शुक्रिया डोरबेल बजती है Rahul “Legal Notice” राघव “Legal Notice” 
यह पत्राचार आपको सूचित करने के लिए है कि उक्त संपत्ति के मालिक जिसमें आप श्रीमती पुष्पा शायरों के निवास करते हैं और पाना परिसर में कहा। 
आपको पद छोड़ने और खाली करने के लिए 15 दिनों का नोटिस दिया जाता है। 
आपको और आपके सभी प्रभावों को पूर्वोक्त तिथि और समय के आधार पर परिसर से हटाया जाना है। 
श्रीमती रोहित शाह उक्त परिसर के कानूनी मालिक हैं और पूरी तरह से इस NOTICE के तहत आगे बढ़ने का इरादा रखते हैं।

Conclusion:

तो कैसी लगी आप लोगो यह Best Emotional Short Stories in Hindi छोटी MOTIVATIONAL कहानी। 

तो जैसा की आप देख सकते है की कुछ छोटी से चीज़े मिलकर आपके माहोल को कैसे बदल सकती है। 
और हम लोगो को एक सीख भी दे जाते है। कुछ असा हे हमारा जीवन भी होता है हमे बहुत कुछ सीखा देती है हमारी जिंदगी। 
चालिये दोस्तों अब अगली कहानी की तैयारी करनी है।

ऐसी हे मजेदार STORIES पढ़ने के लिए हमारे Newsletter को Subscribe करे। मेरी कहानी पढ़ने क लिए आपका बोहोत बोहोत धन्यवाद।

6 thoughts on “Gajab Emotional Stories in Hindi on Mother!”

Leave a Comment